Nayimanzil के साथ मोटिवेशनल जीवन जियो, साहसी, निडर और बहादुर बनो!

जीवन में हमें कितने सवाल राज़ तंग करते है, जैसे की क्या मैं ख़ुश हूँ, क्या मुझे प्रोमोशन मिलेगी, या मेरी शादी कब होगी। यह बातें कई बार हमारे सोच विचार को अंधेरे में धकेल देते है। कितनी बार मुझे इनसे बाहर आना पड़ा। ऐसी हालत में कई बार हम डिप्रेशन और उदासी की ओर चले जाते है।

पर क्या मेरा जीवन सिर्फ़ टेन्शन से भरा है? मेरे में चाह है की यह ज़िंदगी मैं ख़ुशी और प्रेरणा से जी लूँ। मैं सफलता का जीवन जीना चाहती हूँ।नहीं आज मैं हार नहीं मानूँगी, और आप भी आज उम्मीद थाम ले।

 

छोड़े पुरानी बातों को और चले मेरे साथ इस नयी मंज़िल पे। पर कैसे, आओ देखें:

 

आपके लिए मोटिवेशन और प्रेरणा

1.आगे का सोचे: पुरानी बातें बीत गयी है, उनसे सीख ले और आगे बड़े। बातें जैसे की पढ़ाई पूरी न कर पाना, कामयाबी जो नही मिली, जैसा सोचा था वैसी नौकरी नही मिली, किसी ने धोखा दिया जो आपको परेशान कर रहा है, किसी को खो देने का दुख या अपने आने वाले कल की चिंता करना या कभी भी अपने जीवन से संतुष्ट नहीं रहना।

 

2.दिल की सोच को बदलिए: आपका दिमाग़ आपके दिल की सोच को कार्य में बदलता है। अगर आप टूटे हुए, दुखी, पत्थर दिल से कुछ सोचेंगे तो वो नेगेटिव ही होगा। आपने दिल को चांगयी दिलाइये।

मैं धोके से बहूत गुज़री हूँ और एक बात मैंने सिखी है की माफ़ी में आपका दिल और दिमाग़ आगे बड़ सकता है। आप बदला लेके अपने आप को और भी तोड़ देते है। अगर आप आगे बडना चाहते है तो माफ़ी दे और अपनी राह पे चलिए।

 

3.चौकस रहो, कि आप क्या सुनते हो?: अपने जीवन के अधिकांश समय के लिए, मैंने बस वही सोचा जो मेरे दिमाग़ में बात आयी। मेरे मन में जो कुछ था वह ज्यादातर झूठ था या शैतान बकवास बता रहा था। शैतान मेरे जीवन को नियंत्रित कर रहा था क्योंकि वह मेरे विचारों को नियंत्रित कर रहा था।

 

4.इस बारे में सोचें कि आप क्या सोच रहे हैं!:बाइबिल इस बात पर बहुत साफ़  निर्देश देती है कि हमें किस तरह की चीजों के बारे में सोचना चाहिए।

हे भाइयों, जो जो बातें सत्य हैं, और जो जो बातें आदरणीय हैं, और जो जो बातें उचित हैं, और जो जो बातें पवित्र हैं, और जो जो बातें सुहावनी हैं, और जो जो बातें मनभावनी हैं, निदान, जो जो सदगुण और प्रशंसा की बातें हैं, उन्हीं पर ध्यान लगाया करो।” फिलिप्पियों 4:8

 

आपकी सही विचार धारा और साफ़ मन आपको तरक़्क़ी की ओर लेके जाता है। पर इंसान प्रभु के बिना यह नहीं कर सकता। एक पवित्र चीज़ ही हमारी कमज़ोरी को ताक़त में बदल सकती है। मैं आपको बताना चाहती हूँ की असफलता अंतिम नहीं होती। हमारी भावनायें उस एक विशेष मकसद से जुड़ चुकी होती हैं। इसलिए जब वो मकसद पूरा नहीं होता तो हमारा दिल टूट जाता है।

 

लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हम अपने जीवन के एक क्षेत्र में असफल हो गये तो अन्य क्षेत्रों में भी असफल हो जाएँगे। एक बहुत अधिक सफल व्यक्ति कई बार अपने व्यक्तिगत जीवन में असफल हो सकता है और एक असफल कर्मचारी बहुत अच्छा पिता या पति हो सकता है। वैसे ही एक स्टूडेंट जो फेल हो गया हो वो फुटबाल में बहुत अच्छा हो।

 

मेरी तरक़्क़ी और ख़ुशी का राज़ यीशु मसीह के वचन है। उन पर रोज़ ध्यान दे के मैंने जीवन के अनमोल ज्ञान सिखा है। आज आपके लिए यह अनमोल वचन है, इसको अपने दिमाग़ में बिठा ले।

साहसी, निडर, बहादुर बने। क्यों ना आप भी इस नयी मंज़िल पर मेरे साथ चलें। आज ही हमसे चैट करें। https://www.nayimanzil.com/

Views: 1

Comment

You need to be a member of The Brooklynne Networks to add comments!

Join The Brooklynne Networks

Brooklynne.net- Financial Services for Businesses and Professionals

© 2019   Created by Brooklynne Networks.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service

tag.